आशु गैस का रासायनिक नाम क्या है – Tear gas name in Hindi

रुलाने वाली गैस कौन सी है? या आशु गैस (Tear gas) किसे कहा जाता है? यदि आपके मन भी यह सवाल है तो आजे इस आर्टिकल में रुलाने वाली गैस का नाम जानेंगे। आपने अक्सर न्यूज़ में सुना होगा की भीड़ को तितर-बितर करने के लिए पुलिस वालों ने भीड़ ने आंसू गैस के गोले फेक दिए है। इसके कारण भीड़ में उपस्थित लोगों की आँखों से आंसू आने लगते है और आँखों में जलन होने लगती है जिससे भीड़ में एकत्रित लोग वहां से भाग जाते हैं। आइजे जानते है की आशु गैस या टियर गैस किसे कहते है।

आशु गैस का रासायनिक नाम क्या है – ashru gas ka naam kya hai

क्लोरोपिक्रिन (Chloropicrin) को टियर गैस (Tear gas) या आशु गैस कहा जाता है। इसके अलावा अश्रु गैस को क्लोरो एसीटोफिनोन (Chloroacetophenone) भी कहा जाता है। अर्थात हम कह सकते है कि आशु गैस का रासायनिक नाम क्लोरोपिक्रिन या क्लोरो एसीटोफिनोन है। आंसू गैस को अंग्रेज़ी में Tear gas या Lachrymator कहा जाता हैं।

आशु गैस का रासायनिक सूत्र – Tear gas formula in Hindi

आंसू गैस को अंग्रेज़ी में टियर गैस (Tear gas) कहा जाता है। अश्रु गैस को क्लोरोपिक्रिन (Chloropicrin) के नाम से जाना जाता है अर्थात क्लोरोपिक्रिन इसका रासायनिक नाम है। आशु गैस का रासायनिक सूत्र CCl3NO2 है, यह एक कार्बनिक यौगिक है। 

आशु गैस के उपयोग – Aashu gas ke upayog in Hindi

आंसू गैस का उपयोग पुलिस अनियंत्रित (Uncontrolled) भीड़ को कन्ट्रोल में करने के लिए करती है। आशु गैस एक प्रकार से हथियार है जिससे व्यक्ति की मृत्यु तो नहीं होती है पर वह थोड़ा घायल हो जाता हैं, यह एक अमृत्युकर हथियार है। जब भीड़ में दो दलों के लोगों के बीच दंगे हो जाते है तो पुलिसकर्मी निर्दोष लोगों को मार नहीं सकते इसलिए वह अश्रु गैस के गोलों का प्रयोग करते हैं।

आंसू गैस के प्रभाव – tear gas effects in Hindi

आशु गैस के प्रभाव व्यक्ति की आँखों पर बुरा पड़ता है क्योंकि यह हमारी आँखों के लिए अधिक संवेदनशील होती है। जब यह अश्रु गैस (क्लोरोपिक्रिन) व्यक्ति की आँखों के संपर्क आती तो इसकी तीव्रता के कारण आँखों से आंसू आने लगते हैं। यह इसलिए होता है क्योंकि इससे कॉर्निया (Cornea) के स्नायु उत्तेजित हो जाते है। अश्रु गैस के कारण व्यक्ति की आँखों में जलन होने लगती हैं और आँखें लाल हो जाती है। कभी-कभी आशु गैस के दुष्प्रभाव आपकी आँखों से लेकर आपकी श्वसन तंत्र और श्वसन नलिका को प्रभावित करते है। आशु गैस से होने वाली एलर्जी में व्यक्ति को छीकों का आना, सिर दर्द करना, चक्कर आना और उलटी (Vomiting) होना आदि शामिल है। 

टियर गैस से संबंधित अन्य प्रश्न – Tear gas Related questions in Hindi

  • रुलाने वाली गैस का नाम क्लोरोपिक्रिन या क्लोरो एसीटोफिनोन है।
  • रोने वाली गैस का नाम क्लोरोपिक्रिन या क्लोरो एसीटोफिनोन है।
  • आंसू गैस का नाम क्लोरोपिक्रिन या क्लोरो एसीटोफिनोन है।
  • टियर गैस क्लोरोपिक्रिन या क्लोरो एसीटोफिनोन को कहते हैं।
  • अश्रु गैस क्लोरोपिक्रिन या क्लोरो एसीटोफिनोन को कहा जाता है।

यह भी पढ़ें – 

यदि आप सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहें और आपको हमारे द्वारा दी गई पसंद आयी है तो आप इस प्रकार की और अधिक जानकारी के लिए हमारे Facebook के पेज को Like और हमें Twitter पर फॉलो कर सकते हैं।

Leave a Comment