अम्ल वर्षा क्या है – What is Acid Rain in Hindi

अम्ल वर्षा किसे कहते है (What is acid rain in Hindi) या अम्ल वर्षा क्या होती हैं? यदि आप सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहें हैं तो यह प्रश्न आपके लिए जानना बहुत ही आवश्यक हो जाता है। अम्ल वर्ष को अंग्रेजी में एसिड रेन (Acid rain) कहा जाता है। अम्ल वर्षा विज्ञान के महत्वपूर्ण प्रश्न में से एक हैं। अम्ल वर्षा क्या होती हैं इसके बारे में हम कक्षा 8वीं से पढ़ते आ रहें। आइये आज के इस आर्टिकल हम अम्ल वर्षा क्या हैं इसे विस्तार से जानते हैं।

अम्लीय वर्षा की खोज किसने की थी – Aml varsha ki khoj kisne ki thi in Hindi

अम्ल वर्षा क्या है इसे जानने से पहले आपके लिए यह जानना बहुत ही आवश्यक होता है की इसकी खोज किसने की थी। यदि आपके मन में भी यह सवाल है की अम्ल वर्षा की खोज किसने की थी तो आज हम आपके इस सवाल का जवाब देता हैं। अम्लीय वर्षा की खोज रॉबर्ट एंगस स्मिथ (Robert Angus Smith) की थी 

अम्ल वर्षा किसे कहते हैं – Aml varsha kise kahte hai

अम्ल वर्षा भी एक प्रकार की बारिश ही होती हैं परन्तु इस वर्षा का पानी बहुत अधिक अम्लीय होता है अर्थात वर्षा के इस पानी में अधिक मात्रा में एसिड मिला होता हैं। अम्ल वर्षा का कारण वायु का प्रदूषण (Air pollution) होता हैं। साधारण पानी जिसका उपयोग हम पीने के लिए करते हैं उसका pH मान (pH value) 7 होता है। यदि इस पानी का pH मान 7 से कम हो जाता है तो वह अम्लीय (Acidic) हो जाता है क्योंकि अम्ल का pH मान से कम होता है। आइये अम्ल वर्षा के कारण को विस्तार से जानते हैं।

अम्लीय वर्षा का ph मान कितना होता है- pH value of acid rain water in Hindi

हम जानते है कि वर्षा का जल सबसे शुद्ध होता है, इसका pH मान लगभग 5 से 5.6 के बीच होता है। जब प्रदूषण के कारण इसमें CO2, NO, और SO2 पदार्थ मिल जाते है जिससे वर्षा का पानी अम्लीय हो जाता है। अम्ल वर्षा में पानी pH मान 4 होता है। 

अम्लीय वर्षा का रासायनिक सूत्र – Acid rain chemical formula in Hindi

वर्षा के प्रदूषणरहित पानी का pH मान लगभग 5.6 होता है। वर्षा के पानी की अम्लता क्षोभमंडल तीन प्राकृतिक पदार्थों CO2, NO, और SO2 की उपस्थिति से होती है। वर्षा जल की प्राकृतिक अम्लता में कार्बन डाइऑक्साइड (CO2) सबसे अधिक योगदान देता है। कार्बन डाइऑक्साइड पानी के साथ अभिक्रिया करके कार्बोनिक एसिड बनाता है। H2CO3 की H + आयन बाहर करने की क्षमता इस अणु को एक अम्ल के रूप में वर्गीकृत करती है। 

  • S (in coal) + O2 SO2
  • 2 SO2 + O2 . 2 SO3
  • CO2 + H2O = H2CO3
  • SO3 + H2O H2SO4

अम्ल वर्षा का कारण क्या है – Reason of acid rain in Hindi

अम्ल वर्षा (Acid rain) का मुख्य कारण वायुमंडल में हवा के प्रदूषण (Air pollution) के कारण होता है। वायुमंडल (Atmosphere) की शुद्ध हवा में जब कोई अनावश्यक तत्व (Unnecessary element) जैसे गैस आदि मिल जाता है जिसके कारण वायु प्रदूषण हो जाता हैं जो अम्ल वर्षा का कारण बनता हैं। यह प्रदूषण कारखानों की चिमनियों से निकलने वाले धुआँ, सड़कों पर चलने वाले वाहन, यातायात के साधन और प्लास्टिक या विषैले पदार्थों के जलने से निकलने वाले धुएँ के कारण होता हैं। अम्ल वर्षा का प्रमुख कारण सल्फर डाइऑक्साइड SO2 और नाइट्रोजन ऑक्साइड NO2 होता हैं। वायुमंडल में SO2 और NO2 मिलकर पानी की साथ रासायनिक अभिक्रिया (Chemical reaction) कर लेते हैं जो कि अम्लीकरण (Acidification) का कारण बनता है। यह दोनों मिलकर पानी के साथ नाइट्रिक अम्ल (Nitric acid – HNO3) और गंधक का तेजाब (Sulfuric acid – H2SO4) बनाते हैं।

अम्ल वर्षा के प्रभाव – Acid rain effect in Hindi

अम्ल वर्षा (Acid rain) में एसिड की मात्रा अधिक होती है। हम जानते है की एसिड हमारी त्वचा से लेकर सभी चीजों के लिए नुकसानदायक होता है। आइये अम्लीय वर्षा के अम्ल वर्षा के दुष्परिणाम को विस्तार से जानते हैं।

  • अम्ल वर्षा के दुष्परिणाम पेड़ पौधों पर अधिक दिखाई देता है। पानी में अम्ल की अधिकता के कारण पेड़ों की पत्तियां झुलस जाती है, पेड़ के पत्तों के रंगों में परिवर्तन हो जाता है। छोटे-छोटे पौधे नष्ट हो जाते हैं, पेड़ों के फूल झड जाते है और उनकी प्रजनन क्षमता कम हो जाती है।
  • एसिड रेन इफेक्ट्स खेतों की भूमि पर भी देखने को मिलता है। अम्ल वर्षा के कारण खेतों की भूमि भी अम्लीय हो जाती है जिससे भूमि की उर्वरक क्षमता कमजोर हो जाती है और खेतों में फसलों की उपज कम हो जाती है।
  • अम्ल वर्षा का प्रभाव जलीय जीवों पर भी अधिक देखने मिलता है, पानी में तांबा, एल्यूमीनियम, मैंगनीज, जस्ता, निकल, सीसा, कैडमियम आदि की अधिकता हो जाने के कारण मछली, शैवाल तथा अन्य जलीय जीवों पर बुरा प्रभाव प्रभाव पड़ता है जिसके कारण उनकी मृत्यु तक हो जाती है।
  • अम्ल वर्षा के प्रभाव प्राचीन इमारतों और भवनों पर भी पड़ता हैं एसिड रेन के कारण इनकी दीवारों को क्षति पहुँचती है।
  • ताज महल पर अम्ल वर्षा का प्रभाव (acid rain effect on taj mahal in hindi) एक अच्छा उदाहरण है एसिड रेन के कारण इसकी दीवारे सफ़ेद से काली होने लगी है।
  • अम्ल वर्षा का बुरा असर मनुष्यों के स्वस्थ्य पर भी पड़ता हैं।

किस देश में सर्वाधिक अम्लीय वर्षा होती है – Which country has most acid rain in Hindi

ऊपर दी गई जानकारी से आप समझ ही गए होंगे कि अम्ल वर्षा वायु प्रदूषण के कारण होती है अर्थात जिस देश में सबसे अधिक वायु प्रदूषण होगा वहां अधिक अम्ल वर्षा होगी। स्कैंडिनेवियाई देश (Scandinavian countries) में एसिड वर्षा ब्रिटेन और यूरोप के अन्य देशों में वायु प्रदूषण के कारण होती है। इसके अलावा इसमें संयुक्त राज्य अमेरिका के पूर्वी तीसरे और दक्षिण पूर्वी कनाडा भी शामिल है।

अम्ल वर्षा को रोकने के उपाय – Control of acid rain in Hindi

अम्ल वर्षा से बचने के उपाय के लिए इसे रोकने के उपाय करना बहुत जरूरी है। Acid rain ko rokne ke upay में आप निम्न उपायों को कर सकते है।

  • अम्ल वर्षा को रोकने लिए आप सौर ऊर्जा, पवन ऊर्जा, आदि परम्परागत ईंधन का उपयोग अधिक करें।
  • जिस जगह पर धुएँ की चिमनी हो वहाँ कोलाइडेल टैंक बनाया जाए।
  • कारखानों से निकलने वाले काले धुएं की ऊँची चिमनियों पर विशेष फिल्टर (बैग फिल्टर) लगाये।
  • मोटरकार, बस, ट्रक, टेम्पो आदि से प्रदूषक गैसों के उत्सर्जन को कम करने के लिये वाहनों की जाँच कराते रहना चाहिये।

यह भी पढ़ें –

यदि आप सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहें और आपको हमारे द्वारा दी गई पसंद आयी है तो आप इस प्रकार की और अधिक जानकारी के लिए हमारे Facebook के पेज को Like और हमें Twitter पर फॉलो कर सकते हैं।

मैं एक ब्लॉगर हूँ और इस वेबसाइट पर सामान्य ज्ञान के लिए आर्टिकल लिखता हूँ। अगर आप सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे हैं, तो यह वेबसाइट आपकी मदद कर सकती है। Facebook | Instagram

1 thought on “अम्ल वर्षा क्या है – What is Acid Rain in Hindi”

Leave a Comment

%d bloggers like this: